Vrat Tyohar of Ashadha Month 2022:  इस आषाढ़ महीने में पड़ने वाले व्रत और त्योहारों की लिस्ट

Vrat Tyohar of Ashadha Month 2022:  इस आषाढ़ महीने में पड़ने वाले व्रत और त्योहारों की लिस्ट-

दोस्तों हमारे हिन्दू धर्म में हिन्दी के 12 महीने होते हैं जिनकी शुरुआत चैत्र मास से होती ही और फाल्गुन महीने से समाप्ति होती है, हर महीने की शुरुआत अमावस्या के बाद की प्रथमा तिथि से होती है और समाप्ति अमावस्या तिथि के दिन होती है। हिन्दू पंचांग में पूर्णिमा, अमावस्या, द्वादशी, त्रयोदशी, एकादशी आदि तिथि का विशेष महत्व होता है। 


इस समय हिन्दू कैलेंडर का आषाढ़ महिना चल रहा है, जिसकी शुरुआत 15 जून 2022 से हुई थी और यह आषाढ़ का महिना 13 जुलाई 2022 तक चलने वाला है। हिन्दू धर्म के अनुसार आषाढ़ का महिना भगवान विष्णु को समर्पित माना जाता है, चातुर्मास का प्रारंभ हुई इसी महीने से होता है, शास्त्रों के अनुसार माना जाता है कि चातुर्मास में भगवान विष्णु योगनिद्रा में चले जाते हैं जिस कारण इस दौरान शादी-ब्याह जैसे मांगलिक कार्यों को करना शुभ नहीं माना जाता। आषाढ़ माह में कई सारे त्योहार और व्रत पड़ते हैं जिनके बारे में आपको जानकारी होना जरूरी होता है। आज हम आपको आषाढ़ महीने में पड़ने वाले व्रत और त्योहारों के बारे में बताने जा रहे हैं, तो बने रहिये हमारे साथ बिना किसी देरी के शुरू करते हैं। 

 

आषाढ़ महीने में पड़ने वाले व्रत और त्योहारों की लिस्ट-

 

15 जून, बुधवार, मिथुन संक्रांति- आषाढ़ माह की प्रतिपदा तिथि के दिन मिथुन संक्रांति पड़ रही है। इस दिन सूर्य देव मिथुन राशि में एक माह के लिए प्रवेश करेंगे। 

17 जून, शुक्रवार, कृष्ण पिंगला संकष्टी चतुर्थी- ये तिथि भगवान गणेश को समर्पित है। इस दिन गणेश जी की पूजा की जाती है।   

20 जून, सोमवार- कालाष्टमी व्रत, मासिक जन्माष्टमी। 

24 जून, शुक्रवार, योगिनी एकादशी- इस दिन श्री हरि विष्णु की पूजा का विधान है।  

26 जून, रविवार, प्रदोष व्रत- इस दिन व्रत रखने से भगवान शिव की मिलती है।  

27 जून, सोमवार, मासिक शिवरात्रि- इस दिन शिव जी की पूजा का विधान है।  

29 जून, बुधवार, आषाढ़ अमावस्या- इस दिन पितरों के लिए तर्पण आदि किया जाता है।  

30 जून, गुरुवार- इस दिन से गुप्त नवरात्रि का प्रारंभ हो रहा है।

01 जुलाई, शुक्रवार- इस दिन से जगन्नाथ रथ यात्रा निकाली जाएगी।  

03 जुलाई, रविवार, विनायक चतुर्थी व्रत- इस दिन गणेश जी के भक्त उन्हें प्रसन्न करने के लिए व्रत आदि रखते हैं।  

04 जुलाई, सोमवार, स्कंद षष्ठी- इस दिन कार्तिकेय भगवान की पूजा की जाती है।  

09 जुलाई, मंगलवार- गौरी व्रत

10 जुलाई, रविवार: देवशयनी एकादशी, वासुदेव द्वादशी, चातुर्मास का प्रारंभ

11 जुलाई, सोमवार: सोम प्रदोष व्रत

12 जूलाई, मंगलवार: जयापार्वती व्रत

13 जुलाई, बुधवार: आषाढ़ पूर्णिमा, गुरु पूर्णिमा, व्यास पूजा